किताब: बार-बंदी: बरबाद बारों की बेनूर बारात

इरादा तो मुंबई के डांस बारों पर पाबंदी लगने के पहले और बाद के हालात पर विहंगम दृष्टिपात करती एक किताब लिखने का था। जब काम शुरू हुआ तो उसमें से बांबे बार पहले निकल आई। मुंबई के डांस बारों की 12 आंसू बहाती बुलबुलों की दास्तां बांबे बार में समेटीं, जिसे पाठकों ने खूब सराहा। इस चक्कर में असली काम तो पीछे ही छूट गया था। वह है डांस बारों का लेखा-जोखा। उसके इतिहास से वर्तमान तक हर पहलू पर नजर डालने का शगल पूरा न हुआ, जो मन के किसी कोने में खटकता रहा, दिल में टीसता रहा।

आज भी मुंबई, ठाणे, नवी मुंबई और रायगढ़ में सैंकड़ों डांस बार गुलजार हैं।

यह है मुंबई…

देश का इकलौता शहर…

जहां सपने नाचते भी हैं…

जहां सपने खरीदे-बेचे जाते हैं…

जहां सपनों की नुमाईश होती है…

जहां सपनों की बेदर्द मौत भी होती है।

ये शहर है मायानगरी मुंबई, जिसमें देहजीवाओं का एक ऐसा तबका है, जो किसी न किसी कारण पांवों में घुंघरू बांध जिस्म की नुमाईश करते हुए, देह को खास तरह से झटके देते हुए, पुरुषों के खास अंग को उत्तेजित करने के हरसंभव प्रयास करते दिखता है। ये हैं मुंबई की बारबालाएं।

मुंबई के डांस बारों में पलती इन देहजीवाओं के वो पहलू ही अब तक सामने आए हैं, जो बारबालाओं और होटल मालिकों के संगठनों ने अपने लाभ के लिए सामने आने दिए हैं। उनके उत्तेजक नाच, नितंब से वक्ष तक के उभारों, मादक अदाओं, कंटीली चितवन के पीछे छुपे दर्द, मजबूरियों से अलहदा भी कुछ होता है। वह है अपराध और अपराधी गिरोहों से संबंध।

हम पहुंच रहे हैं इन बारबालाओं के अनदेखे और अनसुने संसार के अंदर, बजरिए कलम। तिल-तिल मरती इच्छाओं और हर पल जीवन जीने की प्रबल आकांक्षा के चलते उनका संघर्ष किसी भी नारी से बड़ा हो जाता है।

इन बारबालाओं के बीच पैठना आसान है, उनका विश्वास जीतना बेहद मुश्किल। यह और बात है कि आप उन्हें धन – बाहुबल – संपर्क जाल का थोड़ा सा चमत्कार दिखाएं, वे आपके साथ हो लेंगी। वे लेकिन तब तक ही आपके साथ रहेंगीं, जब तक कि आपसे फायदा है। उनका भरोसा हासिल करना बड़ा जटिल होता है।

इन डांस बारों और बारबालाओं के अंधियाले हिस्से कुरेद-कुरेद कर सामने लाने की बरसों की मेहतन का नतीजा है – बार बंदी

बार-बंदी के बाद का सिलसिला क्या रहा? लड़कियां कहां गईं? कैसे दलालों का जाल बिछा? कैसे देश-दुनिया में बारबालाएं फैल गईं? कानूनी लड़ाई कहां तक पहुंची? 2019 में डांस बार के पक्ष में सुप्रीम कोर्ट का आदेश आने पर भी कहानी खत्म तो होती नहीं है। यहां से नया अध्याय शुरू होता है।

मुंबई के डांस बारों की बारबालाओं के हर रंग, हर रूप, हर खेल की पूरी पड़ताल है ‘बार बंदी’ में।

इसमें हैं सफल और असफल प्रेम कहानियां, अच्छे और बुरे पुलिस वालों की दास्तां, राजनेताओं और समाजसेवकों की कहानियां है। तहखानों में छमछम की तफ्तीश है।

बीयर बारों की कितनी – कैसी कमाई है, कितने लाईसेंस लगते हैं, पुलिस-गुंडों का कितना हफ्ता होता है, लाईट्स व म्यूजिक सिस्टम के ठेके-कीमत की पड़ताल है, सुरक्षा का चक्कर, फर्जी पत्रकारों, आरटीआई एक्टिविस्ट, कंप्लेनेंट्स का खेल भी खोला है, बारबालाओं के विदेशी दौरे, अर्थशास्त्र, गड़बड़ियां, कमाई, खतरे, एजंटों के चेहरों से नकाब खींचे हैं।

मशहूर डांस बारों दीपा, टोपाज, बुलबुल, नाईट लवर्स, बेवॉच वगैरह की जानकारी है।

आरआर पाटिल की डांस बार बंदी से क्या हुआ, क्या बदला, कितनी बारबालाओं का पुर्नवास हुआ कि नहीं? और सबसे मौजूं सवाल- क्या काली कमाई रुकी? सबके जवाब खोजने-समेटने की कोशिश की।

पुलिस बारों पर लगातार छापामारी करती है लेकिन सजा किसी को नहीं होती। आरआर पाटिल ने कहा था कि जिस डीसीपी और सीनियर पीआई के इलाके में बार चलते पाए जाएंगे, उनके खिलाफ कार्रवाई होगी। क्या हुआ उस फरमान का?

देश में मुंबईया बारबालाएं कहां-कहां जाती हैं। क्यों-कब-कैसे-कितनी रकम में बारबालाएं देश भऱ में अपनी अदाओं का जलवा बिखेरती हैं, वह खोजबीन भी किताब में आई है।

बांग्लादेशी बारबालाओं की कमी नहीं। वे काफी कम कीमत पर बारों में नाचने के लिए तैयार हैं। इस हकीकत का भी पूरा खुलासा है।

शराब, दर्जी, गिफ्ट स्टोर, रेडीमेड कपड़ों की दुकानें, टैक्सी-रिक्शा वाले, होटल-रेस्तोंरा कारोबार का बारबालाओं के रिश्तों की पड़ताल की।

नेपाली बारबालाओं के मुंबई में बारों में काम करना भी सामने आते है। नेपाली बारबालाओं के रूप का जादू कहां चलता है, उनका क्या रेट कितना है, कितने समय के लिए भारत आती हैं, कहां रहती हैं, सब कुछ खोजा है।

बार और बारबालाओं पर राजनीति क्या-कैसी रही। किसे क्या फायदा-नुकसान हुआ, वह आकलन भी भी किया।

समझ लें कि मुंबई के डांस बारों के हर रंग, हर रूप, हर खेल की पूरी पड़ताल है बार बंदी में

अध्याय    
अपना बारमाया बारबैन बारहंगामा बारछापा बार
झिंगालाला बारमुंबई बारनीति-बारकारो-बारखनखन बार
तहखाना बारइंडिया बारमीरा बारकाठमांडू बारबांग्ला बार
सुसाईड बारदुश्मन बारतारीख बार  

BOOK LINK: Bar Bandi

Leave a Reply

%d bloggers like this:
Web Design BangladeshBangladesh Online Market