बिहार के विधानसभा चुनाव के हवाला से भेजे 80 करोड़ रुपए बरामद

संवाददाता

कोलकाता, 25 सितंबर 2015

सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस (सीबीडीटी) के साथ राज्य की कुछ एजेंसियों ने गुरुवार को कोलकाता में विभिन्न कंपनियों के 6 ठिकानों व सिलीगुड़ी में एक स्थान पर छापेमारी कर लॉटरी की आड़ में हवाला कारोबार के एक बड़े नेटवर्क का परदाफाश किया. छापे में बड़ी राशि जब्त की गयी है. गुरुवार रात तक जब्त राशि में 80 करोड़ रुपए की गिनती हो चुकी थी. अभी जब्त रकम की गिनती चल रही थी.

 

कोलकाता के छह ठिकानों से 70 करोड़ और सिलीगुड़ी से 10 करोड़ की रकम बरामद की गयी है. संभावना जतायी जा रही है यह रुपए बिहार भेजे जाने थे, जहां 12 अक्तूबर से पांच चरणों में राज्य विधानसभा का चुनाव होना है.

 

इतनी बड़ी मात्रा में रुपए की बरामदगी से जांच एजेंिसयां हरकत में आ गयी हैं. प्रवर्तन निदेशालय (इडी) के अधिकारी भी जांच करने पर विचार कर रहे हैं. छापेमारी में राजस्व खुफिया निदेशालय और कोलकाता पुिलस की एसटीएफ की मदद ली गयी.

 

सूत्रों के मुताबिक, मामले में एक्स एलेक्जेंडर नाम के एक व्यापारी को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है. बताया जा रहा है कि वह गिरोह के प्रमुख एस नागराजन और सेंटिगो मार्टिन का करीबी है. सूत्रों के मुताबिक, शुक्रवार को भी कुछ जगहों पर छापेमारी की जा सकती है.

 

सीबीडीटी सूत्रों के मुताबिक, गुप्त जानकारी के आधार पर दक्षिण कोलकाता के शरत बोस रोड, एसएन रॉय रोड, अलीपुर रोड व हाजरा रोड के छह ठिकानों में छापेमारी की गयी. सरत बोस रोड में हुई छापेमारी में रुपए से भरे 16 बैग व तीन से ज्यादा ट्रॉली बैग जब्त किये गये. दूसरे ठिकानों से दो छह फीट की आलमारी में भरे कुल 30 करोड़ रुपए जब्त किये गये.

 

अधिकारियों का कहना है कि सिलीगुड़ी में भी एक कंपनी के ठिकाने में छापेमारी की गयी, उसमें रुपए से भरे दो बैग मिले हैं. बताया जा रहा है कि दक्षिण भारत आधारित लॉटरी कंपनियों द्वारा कोलकाता व सिलीगुड़ी में हवाला कारोबार चलाये जाने की जानकारी मिली थी. सूत्रों के मुताबिक, लॉटरी की आड़ में हवाला के जरिये करोड़ों रुपए देश के विभिन्न हिस्सों के साथ विदेश भेजने का धंधा चल रहा था.

 

यह भी जानकारी मिली है कि अक्तूबर और नवंबर में बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए भी रुपए भेजने के लिए इन लॉटरी कंपनियों के दफ्तरों में राशि मंगवायी गयी थी. मामले को ज्यादा से ज्यादा गुप्त रखने के इरादे से अधिकारी आधिकारिक तौर पर कुछ भी कहने से बच रहे है.

Courtesy: Attack News, Ujjain

Leave a Reply

%d bloggers like this:
Web Design BangladeshBangladesh Online Market