केवल 29 लोगों ने की 2000 करोड़ की ब्लैक मनी की घोषणा

संवाददाता

नई दिल्ली, 25 सितंबर 2015।

केंद्र सरकार द्वारा ब्लैक मनी और विदेशों में संपत्ति की घोषणा की समय सीमा खत्म होने को है और अब तक केवल 2,000 करोड़ रुपए की ब्लैक मनी ही सामने आई है। डेडलाइन को पूरा होने में एक हफ्ते से भी कम समय बचा है और बुधवार तक केवल 29 लोगों ने ही अपनी संपत्ति की घोषणा की है।

 

टैक्स अधिकारियों का कहना है कि इसकी घोषणा में अंतिम दिनों में तेजी आने की उम्मीद है क्योंकि घोषणा न करने पर भारी पेनल्टी और जेल जाने का भी प्रावधान है। अधिकारियों का कहना था कि कुछ मामलों पर जानकारी स्पष्ट न होने की वजह से भी घोषणाएं कम हो रही हैं। केंद्र सरकार द्वारा यह योजना एक जुलाई से शुरू की गई थी।

 

इससे पहले 1997 में सरकार के कहने पर 3.5 लाख लोगों ने अपनी 10 हजार करोड़ रुपए की संपत्ति की घोषणा की थी। तब सरकार की ओर से माफी योजना पेश की गई थी, लेकिन इस बार टैक्स पर पेनल्टी का प्रावधान है, जो दोनों को मिलाकर करीब 60 फीसदी बैठता है। 1997 में यह लोगों के लिए केवल 30 फीसदी और कॉर्पोरेट के लिए 35 फीसदी ही था।

 

इस बार अधिकारियों ने दो तरीके से ब्लैक मनी की घोषणा की व्यवस्था की है। इसके अलावा, घोषणा करने वाले की जानकारी गुप्त रखने का वादा किया गया है और कहा है कि उसे किसी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा।

 

वित्त मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना था इस घोषणा के बारे में काफी गोपनीयता बरती जाती है और इस घोषणा के बारे में काफी कम अधिकारियों को ही जानकारी होती है। सरकार ने लोगों से कई बार कहा है कि यह माफी योजना नहीं है और अपील की है कि ब्लैक मनी पर सख्त कानून लागू होने से पहले विदेशों में संपत्ति की घोषणा कर दें।

Courtesy: Attack News, Ujjain

Leave a Reply

%d bloggers like this:
Web Design BangladeshBangladesh Online Market