शेयर कारोबारी अंकेश के आखिरी शब्द, “पापा मैं हार गया, अब और बर्दाश्त नहीं होता”

संवाददाता

इंदौर 25 सितंबर 2015 ।

इंदौर में शेयर कारोबारी अंकेश बारिया खुदकुशी मामले में नया खुलासा हुआ है. अंकेश ने फांसी लगाने के पहले अपने कमरे में बोर्ड पर पिता के लिए एक बेहद भावुक संदेश लिखा था. अंकेश ने कर्जदारों से दबाव से परेशान होकर अपनी जान दी थी.

 

अंकेश खुदकुशी केस में तीन दिन बाद पुलिस ने पड़ताल के लिए सील किए कमरे को खोला तो यह खुलासा हुआ. अंकेश ने बेडरूम में बोर्ड पर एक संदेश लिखा था. अंकेश ने लिखा, ‘पापा मैं हार गया. मुझे आपसे बहुत प्यार है. मैं अब और बर्दाश्त नहीं कर पा रहा हूं. लोगों का दबाव है.’

 

सेंट्रल एक्साइज विभाग में अधिकारी किशनलाल के बेटे ने 21 सितंबर को फांसी लगा ली थी. तीन दिन बाद पुलिस ने तफ्तीश को आगे बढ़ाते हुए सील किए हुए कमरे को खोलने के अलावा परिजनों के बयान भी लिए.

 

पिता ने बताया कि अंकेश हमेशा अपने बोर्ड पर खुद को प्रेरित करने वाले शब्द लिखा करता था. पहली बार उसने नकारात्मक बात लिखने के साथ ही मौत को गले लगा लिया.

 

चार करोड़ के नुकसान पर दी जान

अंकेश बारिया 30 का शव उनके ही घर में फांसी पर लटका हुआ मिला था. अंकेश ने मौत के पहले एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है, जिसमें शेयर कारोबार में चार करोड़ रुपए के नुकसान होने का जिक्र है. बताया जा रहा है कि अंकेश को शेयर बाजार में लगातार घाटा हो रहा था. इससे उबरने के लिए अंकेश ने कुछ लोगों से कर्ज लिया था.

 

हालांकि, अंकेश का घाटा कम नहीं हुआ और वह कर्ज में डूबता चला गया.सुसाइड नोट में अंकेश ने कर्जदारों के लगातार परेशान करने की बात भी लिखी है. परेशान करने वालों में एसपी भसरी और स्टेफियन नामक व्यक्तियों का जिक्र किया गया है.

Courtesy: Attack News, Ujjain

Leave a Reply

Matt Kalil Jersey 
%d bloggers like this:
Web Design BangladeshBangladesh Online Market