गोरखपुर में रिटायर्ड फौजी की गोली मारकर हत्या

संवाददाता

गोरखपुर, 26 सितंबर।

हत्या की एक सनसनीखेज वारदात ने पूर्वांचल के जरायम के पुराने दिनों की यादें ताजा कर दी हैं। शनिवार रात बदमाशों ने 70 साल के रिटायर्ड फौजी की हत्या कर दी। हमलावर हवाई गोलीबारी करते हुए मौके से फरार हो गये है।

 

इस घटना से गुस्साए ग्रामीणों ने रिटायर्ड फौजी का शव सड़क पर रख कर वाराणसी-गोरखपुर हाईवे पर जाम लगा दिया और खासा हंगामा किया। इस दौरान ग्रामीणों ने पुलिस की कई गाड़ियों में तोड़फो़ड़ की।

 

मौके की नजाकत देखते हुए एसपी ग्रामीण और एसपी क्राइम के साथ कई थानों की फोर्स घटनास्थल पहुंचीं। वहीं परिजनों ने 40 साल पुरानी रंजिश को हत्या की वजह बताया है। गांव के कुछ लोगों पर हत्या का आरोप लगाया है। इस सनसनीखेज वारदात से पूरे इलाके में दहशत फैल गई है।

 

यह मामला बेलीपार थाना के ककराखोर गांव का है। बताया जा रहा है कि गांव के महाराजा सिंह, जिनकी इसी गांव के निवासी उमेश यादव से पुरानी रंजिश थी। पुलिस का कहना है कि उन्हीं ने हत्या की या करवाई हो सकती है।

 

इस बीच लोगों का कहना है कि करीब 40 साल पहले उमेश यादव के पिता राजमन यादव, जो अपने समय का कुख्यात बदमाश था, उसका आसपास के कई इलाकों में आतंक था। ग्रामीणों के मुताबिक राजमन के गलत कामों का महाराजा सिंह ने विरोध किया था, साथ ही ग्रामीणों को राजमन के खिलाफ एकजुट किया था, बाद में राजमन की हत्या हो गई थी।

 

बताया जाता है कि महाराजा सिंह को राजमन की हत्या के मामले में पुलिस ने आरोपी बनाया था। पुलिस का मानना है कि इसी की खुन्नस में राजमन के बेटों उमेश यादव और कैलाश यादव ने कुछ साथियों के साथ मिल कर हत्याकांड को अंजाम दिया होगा।

 

मौके पर पहुंचे एसपी ग्रामीण ब्रजेश सिंह और एसपी क्राइम ने ग्रामीणों को समझा-बुझाकर कार्रवाई का भरोसा देकर जाम खुलवाया। आरोपियों की गिरफ्तारी की लिए अपराध शाखा और स्थानीय थानो के कई दस्तों को लगाया है। पुलिस ने मृतक महाराजा सिंह के एकलौते बेटे की तहरीर पर उमेश यादव और उसके भाइयों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

Courtesy: Attack News, Ujjain

Leave a Reply

%d bloggers like this:
Web Design BangladeshBangladesh Online Market