मंडला माध्यमिक विद्यालय में लड़कियां हो रही हैं रहस्यमई तरीके से बेहोश

मंडला, 29 सितंबर 2015।

आदिवासी बाहुल्य मंडला जिले के एक माध्यमिक स्कूल में इन दिनों पढ़ाई-लिखाई नहीं बल्कि विभिन्न धार्मिक अनुष्ठान कराए जा रहे हैं। इसकी वजह यहां की छात्राओं और मजदूर महिलाओं का रहस्यमई तरीके से बेहोश होना है।

 

नारायणगंज विकासखण्ड के अंतर्गत दरगढ़ ग्राम के माध्यमिक शाला में इन दिनों सभी हर वक्त डरे-सहमे रहते हैं। यहां पढ़ने वाली छात्राएं और काम करने वाली महिला मजदूर लगातार बेहोश हो रही हैं। इसके चलते स्कूली छात्र-छात्राओं ने स्कूल आना बंद कर दिया है।

 

स्कूल प्रबंधन और ग्रामीणों को आशंका है कि स्कूल में भूत-प्रेत का साया है, जो लड़कियों और महिलाओं को शिकार बना रहा है। स्कूल की एक छात्रा के मुताबिक स्कूल परिसर में डरावनी आवाजें आती हैं और कोई साया उन्हें अपने साथ जबरदस्ती ले जाने की बात करता है। जब वो उसके साथ जाने से मना करती हैं तो वो साया उनसे मारपीट करती है, जिससे वे बेहोश हो जाती हैं।

 

छात्राओं के साथ मजदूर महिला मुन्नी बाई भी अपने साथ ऐसा ही वाकया होने की बात कहती है। मुन्नी बाई के मुताबिक उनके साथ बाकी मजदूर महिलाओं को भी भूत प्रताड़ित कर चुका है। हैरत की बात यह है कि पढ़े-लिखे शिक्षक भी इसे सच मान रहे हैं कि स्कूल में भूत मौजूद है।

 

प्रधान अध्यापक सूरज सिंह पन्द्राम की मानें तो स्कूल में छात्राएं और मजदूर महिलाएं अचानक लगातार बेहोश हो रही थीं, जिनका डॉक्टरी इलाज कराने के बाद भी कोई सुधार नहीं हुआ। इसके बाद उनका झाड़फूंक से इलाज करावाया है। स्कूल से भूत भगाने के लिए धार्मिक अनुष्ठान कराए जा रहे हैं ताकी ये हादसे बंद हो सकें।

 

प्रधान अध्यापक का कहना है कि उन्होंने स्कूल में भूत होने की जानकारी उच्चाधिकारियों को भी दी है। जब इस बारे में आदिवासी सहायक आयुक्त डॉक्टर संतोष शुक्ला से पूछा तो वे मामले से अनजान बनते नजर आए।

Courtesy: Attack News, Ujjain

Leave a Reply

%d bloggers like this:
Web Design BangladeshBangladesh Online Market