मटका माफिया के बुरे दिन #01 : मेन बाजार मटका बंद, ऑपरेटर पप्पू सावला फरार

  • कोल्हापुर पुलिस का जबरदस्त पराक्रम
  • पप्पू सावला का बेटा विरल मोका में गिरफ्तार
  • 40 से अधिक मोका में गिरफ्तार
  • मटका कारोबार पर लगा पहली दफा मोका

विवेक अग्रवाल

मुंबई, 29 जून 2019

मुंबई का विश्वविख्यात मटका जुआ इन दिनों कोल्हापुर पुलिस की सान पर चढ़ा हुआ है। मेन बाजार मटका संचालक प्रकाश हीरजी सावला उर्फ पप्पू सावला अपने तमाम रिश्तेदारों और सहयोगियों समेत भूमिगत होने पर मजबूर हो गया है। कोल्हापुर पुलिस ने पप्पू सावला के बेटे विरल सावला को मोका कानून के तहत गिरफ्तार कर लिया है। अब पुलिस पप्पू सावला को गिरफ्तार करने के लिए जगह-जगह छापामारी कर रही है।

मेन बाजार मटका सरगना पप्पू सावला

विरल शाह मोका में

बता दें कि पप्पू सावला के बेटे विरल सावला को कोल्हापुर पुलिस की एक खास टीम ने मुंबई के बोरीवली (प) स्थित उसके अड्डे से ही धर दबोचा। उसे लेकर सीधे पुणे स्थित विशेष मोका अदालत में पेश कर दिया। मोका अदालत ने पूछताछ और जांच के लिए विरल शाह को पुलिस हिरासत में भेज दिया है।

इसके बाद से ही पप्पू सावला के अलावा उसका भाई जयेश सावला, पिता हीरजी सावला, सबसे करीबी सहयोगी राजू दवे उर्फ राजू टोपी फरार हैं। सबको डर सता रहा है कि कोल्हापुर पुलिस ने इस मामले में मोका के तहत गिरफ्तार करके सलाखों के पीछे ठूंस दिया तो कम से दो या तीन सालों तक तो जेल के बाहर भी नहीं आ सकेंगे।

पूर्व उपमहापौर भी मोका में

कोल्हापुर पुलिस ने पप्पू सावला समेत लगभग पांच दर्जन आरोपियों के खिलाफ मोका में मामला दर्ज किया है। अब तक 50 से अधिक आरोपियों को कोल्हापुर पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है। गिरफ्तार आरोपियों में कोल्हापुर की नगरपालिका पूर्व उपमहापौर तथा वर्तमान नगरसेविका (पार्षद) शमा मुल्ला और उसका पति सलीम मुल्ला शामिल हैं।

विरल सावला मोका में गिरफ्तार

कोल्हापुर का मामला उस दिन खराब हो गया था, जब नगरसेविका शमा मुल्ला के पति सलीम मुल्ला के मटका अड्डे पर छापा मारने कोल्हापुर पुलिस का दस्ता प्रशिक्षु असिस्टेंट पुलिस सुपरीटेंडेंट (एएसपी) ऐश्वर्या शर्मा की सदारत में पहुंचा। उन पर 400 से अधिक लोगों की भीड़ ने सलीम और शमा के उकसावे पर हमला कर दिया। पुलिस वालों को बुरी तरह पीटा। उनमें से एक की सरकारी पिस्तौल छीन कर भाग निकले।

इस हमले से पुलिस बल में नाराजगी छा गई। वरिष्ठ अधिकारियों ने आदेश दिया कि सट्टे मटके के खिलाफ अंतिम वक्त तक लड़ाई का वक्त आ गया है। इसके बाद एएसपी ऐश्वर्या शर्मा ने एक के बाद एक दनादन गिरफ्तारी की झड़ी लगा दी। सबसे पहले सलीम और शमा मुल्ला समेत दर्जन भर लोगों की गिरफ्तारी हुई।

मैनेजर शैलेश मोका में

पप्पू सावला के मैनेजर शैलेश मणियार को भी चलती बस में धर दबोचा। इन सबके खिलाफ मोका के तहत मामला दर्ज करते गए।

जयेश शाह और शैलेष मणियार भी गिरफ्तार

अब जांच का दायरा पूरे महाराष्ट्र में फैल चुका है। अदालत से एक के बाद एक तमाम आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए वारंट जारी कर कोल्हापुर पुलिस छापामारी कर रही है।

पुलिस ने पप्पू सावला के खासमखास जीतू गोसालिया को भी गुजरात से धर दबोचा। जीतू के बयान में विरल सावला का नाम और जानकारी आई। जीतू ने पुलिस को बताया कि वह विरल सावला के लिए काम करता है। कोल्हापुर पुलिस ने अब विरल को गिरफ्तार करने के लिए अदालत से वारंट जारी करवाया। बोरीवली में उसके ठिकाने से जा दबोचा।

राजू टोपी फरार

बताते हैं कि विरल ने कोल्हापुर पुलिस को बयान दिया मेन बाजार मटके का सारा कामकाज राजू दवे उर्फ राजू टोपी संभालता है। इसमें पप्पू सावला का भाई जयेश सावला भी शामिल है।

सलीम मुल्ला कोल्हापुर पुलिस की गिरफ्त में

पता चला है कि इस खेल में मध्यप्रदेश के बड़े मटका खिलाड़ी मुरली अग्रवाल उर्फ मुरली मऊ का नाम भी आया है। सतीश नामक एक व्यक्ति का नाम भी विरल ने पुलिस के सामने लिया है।

गोवा और अमरावती में भी मेन बाजार मटका सिंडिकेट के लिए काम करने वाले सभी लोगों के नाम विरल ने बयान में दिए बताते हैं। विरल की गिरफ्तारी के तुरंत बाद ही सट्टा मटका माफिया में भगदड़ मच गई है।

पप्पू की हालत पतली

पता चला है कि पप्पू सावला के दोनों गुर्दे पूरी तरह खराब हो चुके हैं। वह लंबे समय से इलाज के चलते कहीं बाहर आने-जाने की स्थिति में भी नहीं है। ऐसे में उसका बहुत समय तक फरार रहना भी संभव नहीं है। सूत्रों के मुताबिक वह इस कोशिश में लगा है कि कोल्हापुर पुलिस उसे मोका के तहत गिरफ्तार न करे।

आंकड़े खुलने बंद

24 जून 2019 से मटका इसलिए भी नहीं खुल रहा है क्योंकि पप्पू सावला के लिए कोई भी उसके साथ काम करने के लिए तैयार नहीं है। सबको डर सता रहा है कि पप्पू के साथ या मेन बाजार मटका से नाम जुड़ते ही पुलिस उन्हें भी मोका के तहत गिरफ्तार कर सकती है। मोका का आतंक ही मटका सिंडिकेट के लिए बुरा ख्वाब बन चुका है।

24 जून 2019 को मेन बाजार मटका समेत जितने भी मटका एप और वेबसाईट उपलब्ध हैं, सभी पर यह संदेश लिखा दिखने लगा था कि मेन बाजार मटका बंद रहेगा।

जारी: कल्याण बाजार मटके होगा फायदा, कल्याण नाईट लाने की तैयारी

Hashtags

#Matka #Main_Bazar #Pappu_Savla #Viral_Savla #Satta #Batting #Mumbai #Police #Kolhapur #Gujrat #Vivek_Agrawal #Crime #Mafia #Arun_Gwali #Hirji_Savla #MCOCA #Kalyan_Bazar #Worli_Bazar #Jaya_Bhagat #Salim_Mulla #Shama_Mulla #Attack #मटका #मेन_बाजार #पप्पू_सावला #विरल_सावला #सट्टा #जुआ #मुंबई #पुलिस #कोल्हापुर #गुजरात #विवेक_अग्रवाल #अपराध #माफिया #अरुण_गवली #हीरजी_सावला #मोका #कल्याण_बाजार #वरली_बाजार #जया_भगत #सलीम_मुल्ला #शमा_मुल्ला #हमला

9 thoughts on “मटका माफिया के बुरे दिन #01 : मेन बाजार मटका बंद, ऑपरेटर पप्पू सावला फरार

  • Pingback:मटका माफिया के बुरे दिन #02: मेन बाजार मटका बंद, कल्याण नाईट लाने की तैयारी! – India Crime

  • Pingback:मटका माफिया के बुरे दिन #03: आपसी झगड़े में बरबाद हुआ मेन बाजार मटका – India Crime

  • Pingback:मटका माफिया के बुरे दिन #04: मेनबाजार मटका में लूटपाट का बोलबाला – India Crime

    • July 3, 2019 at 4:36 PM
      Permalink

      संदेश के लिए धन्यवाद। आपके कहा है कि सब कुछ बकवास है। आपसे गुजारिश है कि सच्चाई का साथ दें। हमें बताएं कि सच्चाई क्या है। हम सत्य के उद्घाटन में विश्वास रखते हैं। यदि यह सब लिखा हुआ बकवास है तो आपका सत्य कथन भी हम प्रकाशित करना चाहते हैं।
      – संपादक

      Reply
      • July 4, 2019 at 5:16 PM
        Permalink

        मटका बाजार कभी बंध नही हो पायेगा क्यो की सभी राजनैतिक लोगो इसमे शामिल है और दूसरी बात यही मटके बाजार की वजह से कितनो के घर बर्बाद हुवे
        जितने मटके बाजार चालू है उसे तुरंत बंद करना होंगा dpboos करके एक aps है पहले इसे ब्लॉक किया जाय

        Reply
  • July 3, 2019 at 6:11 PM
    Permalink

    अच्छा ही हुआ क्योंकि जो होता है वो अच्छे के लिए होता है और पुलिस को इस पर बहुत पहले ही कार्रवाई कर लेनी चाहिए थी पुलिस भी मानती अब आंखे खुल गई है पुलिस की तो अच्छा ही हुआ है धन्यवाद वेरी गुड मुंबई पुलिस वेरी नाइस वेरी गुड वेरी नाइस वेरी गुड

    Reply
  • July 3, 2019 at 6:14 PM
    Permalink

    ऐसे मटका साइट की वजह से कितने ही गरीब परिवारों के चूल्हे नहीं जलते गरीब दिन भर काम करके आता है और शाम को मटकाखेल जाता है घर में लड़ाई का माहौल पैदा होता है जिससे बच्चों पर पत्नी पर और घर परिवार पर पड़ोसियों पर और समाज पर बुरा असर पड़ता है इसलिए यह जो हुआ अच्छा हुआ वेरी गुड वेरी नाइस रिंकु कुशवाह

    Reply

Leave a Reply

%d bloggers like this:
Web Design BangladeshBangladesh Online Market