आसाराम आश्रम पर 17 करोड़ का जुर्माना, 30 दिन में रकम चुकाने का नोटिस

संवाददाता

सूरत 25 सितंबर 2015 ।

नाबालिग के यौन उत्पीड़न मामले में सलाखों के पीछे पहुंच आसाराम के सूरत स्थित आश्रम पर जिला प्रशासन ने 17 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया है. आसाराम आश्रम ट्रस्ट को यह जुर्माना 30 दिनों में चुकाने का नोटिस थमाया गया है.

 

सूरत के जहांगीरपुरा स्थित इस आश्रम को लेकर प्रशासन ने यह नोटिस सरकारी जमीन को काम में लेने पर थमाया गया है.

 

जिला प्रशासन के अनुसार वर्ष 1996 से 2010 तक 15 फिसदी जमीन के उपयोग के बदले आश्रम को 17 करोड़ रुपए चुकाने होंगे.

 

आश्रम ट्रस्ट पर भारी पड़ी सरकार से कब्जा हक की मांग:

जानकारी के अनुसार आसाराम आश्रम ट्रस्ट ने सरकारी नोटिस से पहले इस मामले में सरकार से कब्जा हक की शेष रकम 30 लाख रुपए आवेदन के जरिए मांगी थी.

 

इस पर गांधी नगर के राजस्व विभाग गांधीनगर ने वर्ष 1996 से 2010 तक के उपयोग के आधार पर आसाराम ट्रस्ट को ही नोटिस थमा दिया.

 

इस नोटिस के आधार पर ट्रस्ट को अब 17 करोड़ रुपए चुकाने होंगे.

 

नहीं चुकाया तो होगी कानूनी कार्रवाई:

नोटिस के अनुसार आसाराम आश्रम ट्रस्ट जुर्माना राशी यदि 30 दिन में नहीं चुकाता है तो उसके खिला सूरत जिला प्रशासन की ओर से कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

 

आसाराम आश्रम अब किसी कानूनी पचड़े से बचने के लिए यह रकम चुकाने की सोच सकता है लेकिन आसाराम और साईं की अनुपस्थिति में ट्रस्ट के लिए यह फैसला इतना आसान नहीं होगा.

 

यह है मामला:

आसाराम आश्रम के पास जहांगीरपुरा में ब्लॉक नंबर 141 और 142 वाली 34,400 वर्ग मीटर जमीन है.

 

गुजरात के सिंचाई विभाग की ओर से इस जमीन पर पाळा निर्माण योजना के तहत कब्जा किया गया लेकिन फिर भी आश्रम का औषधालय, मंदिर और गौशाला वहीं रही.

 

हाईकोर्ट की ओर से साल 2009 में इस जमीन का कब्जा सरकार को सौंपने का आदेश हुआ. लेकिन आश्रम की ओर से कब्जा नहीं दिया गया तो प्रतिमाह 70 हजार रुपए सरकार को जमा करने के आदेश जारी हुए.

 

अब आश्रम की ओर जमीन का कब्जा देने पर सहमति के साथ यह शर्त रखी की जमीन छोड़ दी है, लेकिन सरकार में जमा किए हुए 30 लाख रुपए उन्हें वापस किए जाएं. इसके बाद ही राजस्व विभाग ने जांच के बाद आश्रम की ओर छोड़ी गई जमीन के अलावा 15 फीसदी जमीन केउपयोग के बदले की रकम वर्ष 1996 से 2010 तक की 17 करोड़ तीन लाख 88 हजार 892 रुपए आश्रम से मांगते हुए नोटिस थमा दिया.

Courtesy: Attack News, Ujjain

Leave a Reply

%d bloggers like this:
Web Design BangladeshBangladesh Online Market