हिंदुस्तान की हर सड़क पर हाईवे माफिया का तांडव

भारत भर के हाईवे और सड़कें अपराधों से कराह रहे हैं लेकिन जांच व कानून पालक एजंसियां इन पर लगाम लगाने में असफल साबित हो रही हैं। ऐसे ही कुछ अपराधों की बानगी:

खंदौली में ट्रक लूटा

25 अप्रैल 2012, खंदौली।

हाथरस-आगरा हाईवे पर मारुति कार सवार बदमाशों ने रात सवा ग्यारह बजे ट्रक लूटा। चालक को वहीं सड़क पर और क्लीनर को टेढ़ी बगिया सौ फुटा पर फेंक गए। जगदीश बंदी सिंह ट्रक (एमपी 06 एचसी 2110) लेकर हाथरस से आगरा आ रहा था। खंदौली के पास हाईवे ओवरब्रिज के पास मारुति सवार बदमाशों ने ट्रक के आगे कार लगा दी और लूट लिया। ट्रक खाली था।

रामगढ़ में ट्रक लूटा

20 अप्रैल 2012, रामगढ़।

थाना चौक पर 10 चक्का ट्रक (जेएच02जे-7414) रात में हथियारें के बल पर लूटा और चालक सुरेंद्र राय को हाथ-पैर बांधकर हजारीबाग के डेमोटांड़ में पेंक दिया। वह रामगढ़ पहुंचा और ट्रक मालिक नारायण यादव को सूचना दी। सुरेंद्र के मुताबिक वह मालिक के घर के बाहर गाड़ी लगा कर केबिन में सोया था। देर रात दो लोग केबिन में घुसे और उसे कंबल ओढ़ा कर रस्सी से बांध दिया।

बुग्गावाला में ट्रक लूटा

20 अपैल 2012, रुड़की।

सशस्त्र गुंडों ने चालक-परिचालक समेत तीन लोगों को बंधक बना कर दस टायर ट्रक लूटा और तीनों को छुटमलपुर जंगल में फेंक कर भाग निकले। रात 10 बजे करीब इरफान सकौती, अमीर आलम व फरमान ट्रक लेकर बुग्गावाला के एक क्रशर जा रहे थे। क्रशर पहुंचने से पहले तेलपुरा के पास बदमाशों ने रास्ता पूछा। ट्रक की गति धीमी होते ही बदमाशों ने अपनी कार ट्रक के आगे लगा दी। हथियार लहराते गुंडे ट्रक पर चढ़े। ईट से ट्रक के शीशे फोड़ दिए

कानपुर में ड्राइवर-क्लीनर की हत्या कर ट्रक लूटा

25 मार्च 2012, कानपुर।

हाईवे लुटेरों ने ड्राइवर राजेश कुमार पाल (25) और क्लीनर मो. जाकिर की हत्या कर चना लदा अर्रा भोगनीपुर के शंकर ट्रांसपोर्ट का ट्रक यूपी-78 एएम-7715 लूट लिया। नौबस्ता थाना क्षेत्र के गल्ला मण्डी-फत्तेपुर लिंक रोड पर दोनों की लाशें मिलीं। पहचान मिटाने के लिए लुटेरों ने दोनों के चेहरे पर ट्रक भी चढ़ाया। ट्रक में 202 बोरा चना लदा था।

तावडू में क्वाइल भरा ट्रक लूटा

4 मार्च 2012, तावडू।

पटौदी रोड पर बदमाशों ने लोहे की क्वाइल से भरा ट्रक लूटा और चालक प्रीतम सिंह को बंधक बना कर मेवात के नगीना एरिया में छोड़ दिया। वह फरीदाबाद से लोहे की क्वाइल लेकर रेवाड़ी के बावल जा रहा था। रात में पटौदी रोड पर स्कॉर्पियो में सवार गुंडों ने ओवरटेक करते हुए ट्रक रुकवाया और बंधक बना कर स्कॉर्पियो में डाला। दो युवक ट्रक लेकर भाग गए।

हथीन में बियर भरा ट्रक लूटा

25 मार्च 2012, हथीन।

धारूहेडा इंडस्ट्रियल एरिया से चले रात करीब 2 बजे आधा दर्जन बदमाशों ने लाखों रुपये की 1150 बियर की पेटियां भरा ट्रक लूट लिया। बदमाशों ने ड्राइवर धर्मेंद्र से 56,500 रुपए भी छीन लिए। छह लुटेरों में से तीन

रुडकी में नशीला लड्डू खिला कर ट्रक लूटा

13 फरवरी 2012, रुडकी।

कार पर आए 4 गुंडों ने ढाबे पर खाना खा रहे ट्रक चालक इरशाद व परिचालक काला को नशा खिला कर दस टायर ट्रक लूटा। डकैत चालक को साथ ले गए।

दौराला में चीनी की 300 बोरी भरा ट्रक लूटा

21 अप्रैल 2012, दौराला।

हाइवे पर बदमाशों ने चीनी की 300 बोरियों से भरा ट्रक हथियारों के बल पर लूट लिया और चालक को फेंक कर फरार हो गए। घटना 14 अप्रैल की है। पुलिस को घटना की तहरीर दे दी गई है। दौराला शुगर मिल से चालक दलवीर चीनी की 50-50 किलो की 300 बोरियां ट्रक एचआर 56 8387 में लेकर चला। चीनी कुरुक्षेत्र की एसके शुगर एजेंसी के अतुल कुमार, गगनदीप और श्रीचंद एंड संस के यहां उतारनी थी। चालक दलवीर जब ट्रक लेकर सकौती पहुंचा तो कुछ बदमाशों ने उसे हथियारों के बल पर रोक लिया और बंधक बनाकर ट्रक लूट लिए। बाद में उसे मुजफ्फरनगर के पास फेंककर चले गये। चालक ने घटना की सूचना मुजफ्फरनगर पुलिस को दी, लेकिन मामला दौराला का बताकर उसे टरका दिया गया। इधर, दौराला पुलिस ने भी मामला दर्ज नहीं किया। शुक्रवार को ट्रक मालिक संजय शर्मा पुत्र महावीर शर्मा थाने पहुंचा और घटना की तहरीर दी। एसओ महावीर सिंह का कहना है कि ट्रक नंबर की जांच करा ली गई है। उन्होंने लूट को संदिग्ध मानते हुए कहा कि इस नंबर का कोई ट्रक नहीं है। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।

बंदूक के बल पर हाईवा ट्रक लूटा

24 फरवरी 2012, राई।

गांव कुंडली स्थित अटेरना रोड पर एक हाईवा ट्रक चालक से मोटरसाइकिल सवार 2 युवक बंदूक के बल पर उसका ट्रक लूटकर फरार हो गए। पीडि़त चालक ने घटना की सूचना कुंडली थाना पुलिस को दी। पुलिस ने ट्रक चालक की शिकायत पर मोटरसाइकिल सवार 2 अज्ञात लुटेरों पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार दीपचंद निवासी गांव जगदीशपुर 21 फरवरी को अपना हाईवा ट्रक लेकर कुंडली की तरफ जा रहा था। दीपचंद ने बताया कि जब वह टी.डी.आई. मोड़ के पास पहुंचा तो अचानक 2 मोटरसाइकिल सवार युवक आए और उन्होंने बंदूक के बल पर उसका ट्रक रुकवा लिया और उन्होंने चालक को ट्रक से बाहर निकाल दिया और इसके बाद एक युवक ट्रक लेकर फरार हो गया। पुलिस ने पीडि़त ट्रक चालक दीपचंद की शिकायत पर अज्ञात लुटेरों की तलाश शुरू कर दी है। वीरवार शाम तक लुटेरों का पुलिस कोई सुराग नहीं लगा सकी थी।

ड्राइवर-क्लीनर की हत्या कर ट्रक लूटा

26 Nov 2011, बुलंदशहर

हाइवे पर लूट का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। शुक्रवार को दिल्ली रोड स्थित नहर के पास दो लोगों की गला रेतकर हत्या कर दी और उनका मसालों से लदा ट्रक लूट लिया गया। गुरुवार को यह ट्रक साहिबाबाद से नामी कंपनी के मसाले लेकर पटना जा रहा था। शुक्रवार सुबह कोतवाली देहात क्षेत्र में दरियापुर नहर के पास पुलिस को दो अज्ञात व्यक्तियों की लाश मिली थी, जिनकी हत्या गला रेतकर की गई थी। काफी शिनाख्त के बाद भी उनकी पहचान नहीं हो सकी। पुलिस ने दोनों शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया था और आसपास के जनपद की पुलिस को भी सूचना दे दी थी। बाद में शवों की पहचान अरविन्द और नवीन के रूप में हुई। अरविन्द ट्रक संख्या एचआर-38, 7875 का मालिक है और खुद ही ट्रक चलाता था। वह साहिबाबाद स्थित एक ट्रांसपोर्ट कंपनी से एक नामी कंपनी के मसाले लेकर शाम को पटना के लिए रवाना हुआ था। उसके साथ उसका क्लीनर नवीन भी था। जैसे ही ट्रक बुलंदशहर पहुंचा तो अज्ञात लुटेरों ने दोनों का गला रेतकर लाश को कोतवाली देहात क्षेत्र के दरियापुर गांव के पास नहर किनारे फेंक दिया और ट्रक लेकर फरार हो गये। ट्रक में 15 टन मसाले थे जिसकी कीमत 10-15 लाख रुपये बताई जा रही है। पोस्टमॉर्टम हाउस पहुंचे मृतक ट्रक मालिक/ड्राइवर अरविन्द के पुत्र सचिन ने शिनाख्त की।

पुलिस लूटे गये ट्रक को बरामद करने के लिए अभियान चला रही है। वहीं जिले मंे चैकिंग भी शुरू हो गई है। लेकिन 24 घंटे पहले हुई इस लूट के बाद ट्रक के जनपद में होने की संभावना कम है। हाइवे पर लूट का यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले रोडवेज बस और प्राईवेट वाहनों में हाइवे लुटेरे घटना को अंजाम देते रहे हैं।

बदमाशों ने चावल से भरे ट्रक को लूटा

14/01/2012, फरीदाबाद, बल्लभगढ़।

नेशनल हाइवे पर सेक्टर-11 के समीप चावल से भरा खड़ा ट्रक तीन बदमाश लूट ले गए। बदमाशों ने ट्रक चालक व क्लीनर को बंधक बनाकर इस घटना को अंजाम दिया। चालक व क्लीनर को बदमाश पलवल के समीप फेंक गए। लूटा गया चावल दिल्ली ले जाया जा रहा था। सेक्टर-7 थाने की पुलिस ने इस संबंध में मामला दर्जकर लिया है। राजेश यादव ने पुलिस में दर्ज कराए मामले में कहा है कि वह घुघेरा गांव से दिल्ली के लिए ट्रक में चावल भरकर ला रहे थे। फरीदाबाद सेक्टर 11 के समीप मिलन वाटिका के पास पहुंचने पर उन्होंने ट्रक सड़क किनारे खड़ाकर क्लीनर पप्पू खान को खाना लाने के लिए भेज दिया। पप्पू खाना लेकर आया और दोनों ने ट्रक में बैठकर खाया। इसके बाद दोनों ट्रक में ही सो गए। रात करीब साढ़े बारह बजे अचानक तीन युवक ट्रक में जबरन घुस आए और उन्हें बंधक बना लिया। इसके बाद तीनों युवकों ने उनके साथ मारपीट कर ट्रक को पलवल की ओर ले गए। रास्ते में बघौला गांव के निकट बदमाशों ने उन्हें झाड़ियों में फेंक दिया। इसके बाद राजेश ने विजय भारत ट्रांसपोर्ट के मालिक को सूचित किया। उन्होंने पुलिस को सूचना दी। किसी प्रकार चालक राजेश व क्लीनर पप्पू थाने पहुंचे। मामले की जांच कर रहे एसआई कर्मबीर सिंह का कहना है कि बदमाशों की तलाश की जा रही है। बदमाशों की तलाश में पुलिस की एक टीम उत्तरप्रदेश भी गई है।

तिल्ली से भरा ट्रक लूटा

12/4/2011, ग्वालियर।

दो लक्जरी वाहनों में आए सशस्त्र बदमाशों ने शुक्रवार-शनिवार की दरम्यानि रात एबी रोड पर तिल्ली की बोरियों से भरा ट्रक लूट लिया। लूटा गया ट्रक मुरैना जिले से निकली छौंदा नदी के पास तो ड्रायवर व क्लीनर बंधी हुई हालत में टेकरी गांव के पास मिले। घटना पनिहार थाना हद में अंजाम दी गई। ट्रक जप्त करने गई पुलिस को सिर्फ एक बोरी तिली मिली है। ड्रायवर व क्लीनर ने लूट की घटना पुलिस को बताई है वह पुलिस के गले से नीचे नहीं उतर रही है। लूट की घटना के बाद शनिवार को फैक्ट्री संचालक ने एसपी को ज्ञापन सौंप कर मांग की कि वह मामले की गहन पड़ताल करवाएं। गिरवाई नाका पर कैलाश इंडस्ट्रीज के नाम से तिल्ली की फैक्ट्री है। शुक्रवार को ट्रक नम्बर एमपी09 एचजी- 4646 में मुम्बई भेजने के लिए 760 कट्टे गुलाबी रंग के तिल्ली के इसमें लोड किए गए थे। ट्रक अभी पनिहार थाने से कुछ दूर ही आगे निकला होगा कि स्कार्पियो व बोलेरों से आए बदमाशों ने इसे हाथ देकर रोका और ड्रायवर व क्लीनर को बाहर निकाल कर अपनी गाड़ियों में बैठा लिया। बाद में बदमाश ट्रक ड्रायवर व क्लीनर को बंधक बनाकर टेकरी गांव के पास पटक गए। वहीं लूटा गया ट्रक पुलिस को लावारिस हालत में छौंदा नदी के किनारे मिला। ट्रक में तिल्ली की एक बोरी मिली है। ट्रक को पनिहार थाना पुलिस ने जब्त कर लिया है।

नदी किनारे मिला खाली ट्रक

ट्रक पनिहार से लूटा गया और छौंदा नदी के किनारे लावारिस हालत में खाली मिला। इससे पुलिस अब इस बात का कयास लगा रही है कि लूटे गए ट्रक में से लगभग 16 लाख रुपए कीमत की तिल्ली को बानमौर और टेकरी के बीच ही उतारा गया है। पुलिस ने अपने मुखबिरों का जाल बिछा दिया है।

ट्रक चालक को लूटा

21 नवंबर 2011, झाबुआ।

रविवार की अलसुबह झाबुआ-रानापुर मार्ग पर आलीराजपुर से उज्जैन जा रहे एक ट्रक चालक से कुछ युवकों ने मोबाइल एवं नकदी लूट लिए। पुलिस के अनुसार ट्रक चालक राजराम पिता भेरूसिंह निवासी उज्जैन ने झाबुआ थाने रिपोर्ट दर्ज कराई। इसमें बताया गया कि रविवार की सुबह करीब 4:30 बजे बिलीडोज के समीप उसके ट्रक का पहिया पंक्चर हो गया था। इसी बीच तीन-चार युवक आए और उनके पास से दो मोबाइल एवं दो हजार रुपए नकद लूटकर चले गए। इस संबंध में झाबुआ थाना प्रभारी आरसी भाकर ने बताया कि मामले की जाँच की जा रही है। -निप्र

महाराष्ट्र क्राइम ब्रांच ने 75 लाख की दवाइयां पकड़ी

17 अप्रैल 2012 , इंदौर।

बाम्बे से दवाइयां भरकर नागपुर के लिए निकले एक ट्रक को वर्धा में लूटा गया तथा ड्रायवर क्लीनर को बंधक बनाकर सारा सामान मध्यप्रदेश लाया गया। इस साजिश में उज्जैन के एक व्यापारी को महाराष्ट्र क्राइम ब्रांच ने कंजर गिरोह के साथ इंदौर से गिरफ्तार कर 75 लाख से ज्यादा की दवाइयां जब्त करने में सफलता प्राप्त की है। मिली जानकारी के अनुसार गत 12 फरवरी को बाम्बे से एक ट्रक नागपुर के लिए 75 लाख से ज्यादा की जरुरी दवाइयां भरकर निकला था कि वर्धा में इस ट्रक को साजिशपूर्वक लूट लिया गया। बताया जाता है कि वर्धा में ही इस ट्रक के क्लीनर और ड्रायवर को बंधक बना लिया गया तथा सारा सामान मध्यप्रदेश के एक ट्रक में भर लिया गया। साजिशकर्ता इस ट्रक को लेकर उज्जैन आया और पूरे माल को इंदौर में ठिकाने लगा दिया। महाराष्ट्र क्राइम ब्रांच को इस बात की भनक लगी तो एक टीम इंदौर पहुंची और उज्जैन के व्यापारी विजय को इस साजिश में दो कंजरों के साथ गिरफ्तार किया गया। क्राइम ब्रांच की टीम ने व्यापारी के बताए अनुसार ठिकानों पर छापा मारकर वहां से एक ट्रक क्रमांक एमपी-09-केसी-8536 से 75 लाख से ज्यादा की दवाइयां जब्त कर ली हैं। मामले में आगे पूछताछ जारी है। इस साजिश में विजय के साथ और कौन-कौन कंजर है इस बात का पता लगाया जा रहा है। खबर मिली है कि धार-झाबुआ में कई ठिकानों पर पुलिस ने छापामार कार्रवाई की है। स्थानीय पुलिस को नहीं दी जानकारी महाराष्ट्र से क्राइम ब्रांच का दल उज्जैन में बड़ी वारदात की कार्रवाई करने के लिए पहुंचा, जिसमें उसने 75 लाख की दवाइयां और तीन आरोपियों को भी गिरफ्तार किया, लेकिन इस पूरे मामले की जानकारी स्थानीय पुलिस प्रशासन को नहीं दी। इस संबंध में जब पुलिस अधीक्षक उज्जैन से जानकारी लेनी चाही तो वे भी इस कार्रवाई को लेकर कुछ नहीं बता सके, जबकि सूत्रों का कहना है कि महाराष्ट्र पुलिस ने जानबूझकर एमपी पुलिस को जानकारी नहीं दी कि कहीं आरोपियों को पकडऩे में एमपी पुलिस कोई बाधा नहीं खड़ी कर दे। इस वजह से उन्होंने स्थानीय पुलिस को जानकारी नहीं दी, जबकि हकीकत यह है कि महाराष्ट्र से आए पुलिस के दल ने करीबन सात घंटे उज्जैन और देवास में बिताए लेकिन स्थानीय पुलिसवालों को उनकी भनक भी नहीं लगी।

लुटा ट्रक बरामद, चालक गिरफ्तार

Aug 13, 2011, बहराइच।

महाराष्ट्र के नागपुर में लूटे गए ट्रक को इंदौर निवासी वाहन चालक नेपाल पहुंचाने की फिराक में था। इसी बीच वह पुलिस के हत्थे चढ़ गया। दरगाह पुलिस ने लूटे गए ट्रक को तो बरामद ही कर लिया, साथ ही घटना को अंजाम देने वाले चालक को भी धर दबोचा। नागपुर के यशोधरानगर थाना क्षेत्र निवासी करनैल सिंह ने एक साल पहले एक ट्रक की खरीददारी की थी। वह मालवाहक के रूप में इसका प्रयोग कर रहे थे। जब करनैल सिंह का ट्रक चालक वाहन को लेकर निकला था, तभी तीन महीने पहले इंदौर के 503 खादी वाला टैंक भवरपुआ निवासी मनोज कुमार माली उर्फ रामसिंह ने इस निगाह गड़ा दी। उसने करनैल सिंह के ट्रक चालक को पहले कट्टे की नोंक पर अगवा किया और फिर ट्रक लेकर फरार हो गया। चालक को रास्ते में ही उतार दिया। नागपुर से भागने के बाद वह सीधे कानपुर चला आया और यहां माल ढुलाई का काम करने लगा। इस बीच उसने ट्रक को बेचने के बहुत यत्‍‌न किए लेकिन कामयाबी नहीं मिली। आखिरकार उसने नेपाल का रास्ता पकड़ लिया। शुक्रवार को जब वह ट्रक को बेचने की नियत से नेपाल ले जा रहा था, तभी दरगाह थानाध्यक्ष राजेन्द्र प्रसाद वर्मा और पुलिस उपनिरीक्षक राजितराम ने उसे धर दबोचा। पुलिस के सामने ट्रक चालक ने घटनाक्रम को स्वीकार कर लिया है। घटना की जानकारी यशोधरानगर पुलिस को दे दी गई है।

नकली और घटिया दवाओं की बिक्री भी जोरों पर

भोपाल/ नकली और घटिया दवाओं को खपाने की बात अब पुरानी हो चली है, अब तो प्रदेश में लूट और चोरी की दवाएं भी खपाई जा रही हैं। हाल ही में इस बात का खुलासा तब हुआ जब महाराष्ट्र की क्राइम ब्रांच पुलिस ने गंज बासौदा के विनोद कुमार जैन को गिरफ्तार किया। विनोद के पुत्र विजय कुमार की भी दवाओं की लूट के मामले में तलाश की जा रही है। विदित हो कि फरवरी में भिवंडी से दवाओं से भरा ट्रक नागपुर आ रहा था। इसी बीच वर्धा जिले के कारंजर थाना क्षेत्र में इस ट्रक को लूट लिया गया। महाराष्ट्र की क्राइम ब्रांच पुलिस ने जब इस मामले की तफ्तीश की तो पता चला कि वारदात के तार मध्यप्रदेश के गंजबासौदा से जुड़े हुए हैं। जिस ट्रक को लूटा गया था उसकी सारी दवाएं ट्रक क्रमांक एमपी-९ केसी ८५३६ में भरकर गंजबासौदा के बेहलोट क्षेत्र में लाई गई और ट्रक यहीं खाली किया गया। पुलिस को पता चला कि दवाएं विजय जैन की दुकान में रखी गई थी। लूटी गई दवाओं की कीमत करीब अस्सी लाख रूपए बताई जा रही है। पतासाजी के बाद पुलिस ने विनोद कुमार जैन को गिरफ्तार कर लिया जबकि उनका पुत्र विजय फरार हो गया। ये घटना यह साबित करने के लिए पर्याप्त है कि लूट और चोरी की दवाएं भी मध्यप्रदेश में खपाई जा रही हैं। विदित हो कि लंबे समय से नकली, घटिया और एक्सपाइरी डेट की दवाएं बेचे जाने की शिकायतें सामने आती रहीं हैं। प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में तो किराना और जनरल दुकानों में तक दवाएं आसानी से उपलब्ध हो जाती हैं। दवा कंपनियों से मिली भगत के चलते डॉक्टर गैर जरूरी और मंहगी दवाएं भी लिख देते हैं। हालांकि, केन्द्र सरकार ने चिकित्सा क्षेत्र में सख्त नियम बनाने की पहल कर दी है जिसके मुताबिक मरीजों को गैर जरूरी दवाएं नहीं लिखी जा सकेंगी। असली और नकली दवाओं की आसानी से पहचान के लिए उनमें कोड-नंबर होंगे, इन नंबरों को एसएमएस करते ही पता चला जाएगा कि संबंधित दवा असली है या नकली। बहरहाल, प्रदेश में लोगों की जान से खिलवाड़ रोकने, नकली तथा घटिया दवाओं की बिक्री रोकने लिए राज्य सरकार को सख्त कदम उठाना होंगे।

बदमाशों ने 16 टन शक्कर से भरा ट्रक लूटा

29 Jan 2010, बडवानी।

महाराष्ट्र के पुणे से मध्यप्रदेश के लिये 16 टन शक्कर लेकर रवाना हुए ट्रक को आगरा-मुंबई राष्ट्रीय राजमार्ग पर अज्ञात बदमाशों ने लूट लिया। यह घटना महाराष्ट्र की सीमा में हुयी। अनुविभागीय अधिकारी पुलिस राजीव मिश्रा ने बताया कि पुणे के इंदापुर स्थित शक्कर कारखाने से 16 टन शक्कर भरकर ट्रक 26 जनवरी को राज्य के नीमच के लिये चला था। उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश की सीमा शुरू होने से 20 किलोमीटर पहले जीप में सवार छह बदमाशों ने ट्रक रोक लिया और चालक घनश्याम और क्लीनर कालू को धमकाकर ट्रक कब्जे में कर लिया। उन्होंने बताया बदमाशों ने ट्रक चालक और क्लीनर के हाथ पैर बांध कर दोनों को मानपुर घाट में छोड़ दिया और शक्कर से भरा ट्रक लेकर फरार हो गये। मिश्रा ने बताया कि सेंधवा ग्रामीण थाने में चालक और क्लीनर ने आज इस घटना की रिपोर्ट दर्ज करायी है। घटनास्थल महाराष्ट्र के शिरपुर थाना क्षेत्र में होने के कारण प्रकरण वहां स्थानंतरित कर दिया गया है।

पुलिस वर्दी में चीनी से भरा ट्रक लूटा

अप्रैल 20 2010

जयपुर

जयपुर से 60 किलोमीटर की दूरी पर स्थित दूदू थाना क्षेत्र में नीली बत्ती लगी गाड़ी में पुलिस की वर्दी में आए बदमाश चीनी से भरा एक ट्रक लूट कर फरार हो गए। ट्रक लूटने से पहले उन्होंने चालक और खलासी के हाथ-पांव बांध कर सड़क किनारे फेंक दिया। पुलिस के एक दल को लुटेरों की तलाश में हरियाणा के मेवात इलाके में रवाना किया गया है। पुलिस ने बताया कि महाराष्ट्र से चीनी की बोरियां लेकर चालक राजेंद्र सिंह जयपुर आ रहा था। इसी दौरान मंगलवार तड़के करीब चार बजे दूदू-बगरू के पास एक बोलेरो गाड़ी में सवार लोगों ने वाहन को रुकने का इशारा किया। पुलिस के मुताबिक बोलेरो पर नीली बत्ती लगी हुई थी और उसमें सवार लुटेरों ने खाकी वर्दी पहन रखी थी। लिहाजा चालक ने तुरन्त ट्रक रोक दिया। वाहन के रुकते ही बोलेरो से तीन-चार युवक उतरे और उन्होंने चालक और खलासी को हथियार के बल पर उनका हाथ-पांव बांधकर केबिन के कोने में बैठा दिया। एक लुटेरा ट्रक को लेकर हरमाड़ा की ओर रवाना हो गया। हरमाड़ा के पास उन्होंने चालक और खलासी को सड़क के किनारे पटक दिया। चालक और खलासी ने किसी तरह से हाथ-पांव खोलकर पुलिस को इसकी सूचना दी। सिंह ने बताया कि लुटेरे मेवाती भाषा में बात कर हरे थे। पुलिस ने आशंका जाहिर की है कि लुटेरे अलवर या हरियाणा में मेवात इलाके के हो सकते हैं।

महाराष्ट्र की क्राइम ब्रांच इन्दौर से एक युवक को पकड ले गई

30 दिसंबर 2011

महाराष्ट्र के हिंगोली में हुई एक ट्रक ड्राईवर की हत्या के सिलसिले में महाराष्ट्र क्राइम ब्रांच की टीम इन्दौर से एक व्यक्ति को पूछताछ के लिए ले कर गई है.भवंर कुँआ थाना प्रभारी आनन्द यादव ने बताया कि अप्रैल माह में महाराष्ट्र के हिंगोली में बासबा थाने के अंतर्गत एक ट्रक चालक की हत्या कर लाश को एक नाले में फेंक दी गई थी. मृतक की शिनाख्त इन्दौर के राजेन्द्र पिता अखिलेश तिवारी के रुप में हुई थी. वह राऊ में कविता ट्रांसपोर्ट मंट नौकरी करता था. इस मामले की जांच करते हुए वहाँ की क्राइम ब्रांच ने मृतक के मोबाइल की कॉल डिटेल निकाली थी. मृतक का मोबाइल फोन इन्दौर के असरावद खुर्द में चल रहा था. क्राइम ब्रांच का दल इन्दौर पहुंचकर सम्बन्धित थाने पुलिस को लेकर वह पहुंची और संतोष नामक युवक को अपने साथ लेकर गई है. वहाँ की क्राइम ब्रांच को शंका है कि जो मोबाइल संतोष के पास आया है वो कतिल ने ही उसे दिया है. संतोष के माध्यम से पुलिस कतिल तक पहुंचने की कोशिश में है.

रोड माफि‍याओं की ओर से डाली जा रही डकैती कब रुकेगी

21 अप्रैल 2012

इटावा

इटावा में अवैध रूप से रेत, बालू और मौरंग, लोडिंग-अनलोडिंग के ठेके नीलाम किये जाने की आड़ में हाईवे और पी.डब्ल्यू.डी.समेत अन्य मार्गों पर रेत, बालू, मोरंग के ट्रकों का गुण्डागर्दी के आधार पर अवैध रूप से रोककर मानिकपुर मोड़ और टिक्सी टैम्पल के समीप ग्वालियर रोड स्थित अन्य मार्गो पर प्रतिदिन लाखों रुपये की डकैती रोड माफियाओं की ओर से डाली जा रही है। इस बारे में साप्ताहि‍क समाचार पत्र सि‍यासी अखाड़ा के सम्पादक खादि‍म अब्बास ने जि‍लाधि‍कारी को दि‍ये पत्र में दि‍या है। पत्र में उल्लेख कि‍या है कि‍ नगर विकास मन्त्री ने उ0प्र0 सरकार के बनते ही सभी ठेके निरस्त कर दिये थे, लेकि‍न फि‍र भी नगर पालिका परिषद इटावा द्वारा गत 21 मार्च को विभिन्न ठेकों की नीलामी के लि‍ए निविदा प्रकाशित करायी गयी थी। ठेके रेत, बालू और लोडिंग अनलोडिंग उठाते हुये वसूली शुरु करा दी गयी। ये ठेके वित्तीय वर्ष अप्रैल 2012-2013 के लिये उठाये गये। नगर पालिका परिषद इटावा की सांठगांठ से ठेका निरस्त होने के बाद भी रोड माफियाओं द्वारा नेशनल हाईवे मानिकपुर मोड़ समेत अन्य पी.डब्ल्यू.डी. मार्गों पर रोड माफियाओं द्वारा लाखों रुपये प्रतिदिन डकैती डाली जा रही है। बताया कि‍ गत 11 अप्रैल को भी जि‍लाधि‍कारी को अवगत करा चुके हैं। उल्लेख कि‍या है कि‍ नगर पालिका परिषद इटावा 13 अप्रैल को इन्हीं ठेकों की नीलामी की निविदायें प्रकाशित करवायीं हैं जि‍समें 25 अप्रैल को नीलामी की तिथि का उल्लेख कि‍या गया है। इस पर खादि‍म अब्बाकस ने जि‍लाधि‍कारी से शासनादेशों के अंतर्गत स्थिति का अवलोकन करने की मांग की है। खादि‍म अब्बास का कहना है कि‍ नगर पालिका परिषद तभी वसूली कर सकती है, जब पार्किंग स्थल स्थापित हो और पानी, छाया, शौचालय ठहराव की सीमायें निर्धारित हों। नागरिकों के विश्राम के लि‍ए शेड की व्यवस्था की जाये, जिस स्थान पर वाहन पार्किंग की जाये। खादि‍म अब्बास ने जि‍लाधि‍कारी के आलावा यूपी के मुख्यमंत्री और नगर वि‍कास मंत्री को भी पत्र भेजकर सारे घटनाक्रम से अवगत कराने का प्रयास कि‍या है।

रायपुर में फर्जी नक्सली दबोचे, डकैती डालने की थी तैयारी, सात गिरफ्तार, भारी मात्रा में हथियार बरामद

29 अप्रैल 2012

ग्राम गेरसा थाना सीतापुर के एक मकान में डकैती डालने की कोशिश में जुटे 7 फर्जी नक्सलियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपियों के कब्जे से भारी मात्रा में हथियार जप्त किए गए हैं। पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि कार्रवाई में आरोपी बरथु कुजूर (22 वर्ष), गोडविन मिंज 20 वर्ष, ग्राम शंकरपुर जिला जुमला (झारखण्ड), रोशन (28 वर्ष), संजीव एक्का, सोनपुर बगीचा, मरियानुस टोप्पो, श्रीमती मथिल्दा टोप्पो एवं जसिता टोप्पो ग्राम बहमा कांसाबेल जशपुर को पकड़ा गया है। उनका कहना था कि पकड़े गए आरोपियों के कब्जे से एक कार्बाइन, दो 315 बोर की रायफल 10 कारतूस, सुतली बम, नक्सली कमांडो वर्दी, मोबाइल, मोटर साइकिल व मारूति वेन को जप्त किया गया है। बताया गया है कि युवक दीपेश बंसल पिता स्व. रविन्द्र कुमार बंसल 22 वर्ष निवासी गेरसा थाना सीतापुर के मकान के सामने अज्ञात वर्दीधारी बंदूक लिये आये और दरवाजा खुलवाने का प्रयास किये। युवक द्वारा दरवाजा न खोलने पर अज्ञात आरोपियों द्वारा बंदूक से फायर कर सामने खड़ी बोलेरो वाहन को क्षति पहुंचाया तथा डकैती डालने का प्रयास किये। युवक की रिपोर्ट पर अप.क्र. 11412 धारा 402, 506 बी, 427 भादंवि 25, 27 आर्म्स एक्ट का अपराध पंजीबध्द कर विवेचना में लिया गया। घटना की सूचना पर सीतापुर पुलिस एवं सरगुजा एसपी एवं उनकी टीम तत्काल मौके पर पहुंचकर अपराधियों की पतासाजी एवं विवेचना शुरू की। इसमें आईजी सरगुजा रेंज भारत सिंह, एसपी सरगुजा प्रवीर दास, एसपी जशपुर मनीष शर्मा, एडिशनल एसपी सरगुजा उमेश चौधरी, थाना सीतापुर, थाना कांसाबेल के थाना प्रभारियों एवं उनकी टीम द्वारा अपराधियों का पतासाजी घटना के बाद लगातार करते रहे। जिसके फलस्वरूप ग्राम गेरसा में जो अपराधी डकैती डालने के प्रयास किये थे।

पांच कुख्यात हाईवे डकैत धरे गए

28 जनवरी  2012, नई दिल्ली

उत्तर-पूर्वी जिला पुलिस ने कुख्यात अंतर्राज्यीय हाइवे रोबर्स गिरोह के पांच सदस्यों भाजिद उर्फ बाबू (35), मेहताब (35), अजय (24), राहुल (22) और नवाब (22) को गिरफ्तार करते हुए हाइवे लूट के तीन सनसनीखेज मामले सुलझाने का दावा किया है। पुलिस सूत्रों के अनुसार इलाके में पिछले दिनों हाइवे पर लूट की वारदातों की संख्या में वृद्धि होने के कारण मामलों पर कार्रवाई करने के लिए एक टीम का गठन किया गया। पुलिस टीम ने इनके बारे में जानकारी जुटा पांचों बदमाशों को धर दबोचा। पुलिस ने इनके कब्जे से एक फोर्ड फिएस्टा कार और तकरीबन 35 लाख रुपए का सामान बरामद किया है।

हाईवे लुटेरों को गैंग पकड़ा

April 03, 2012, कानपुर।

चालक और क्लीनर की हत्या कर हांडा कंपनी की 60 स्कूटी और बाइकें लदे कंटेनर ट्रक को लूटने वाले तीन बदमाशों को एसओजी और पुलिस ने रविवार रात नजीराबाद इलाके से धर दबोचा। कंटेनर के साथ ही स्कूटी और बाइकें भी बरामद कर ली गई हैं। गैंग के एक सदस्य की तलाश की जा रही है। बदमाशों ने बताया कि चालक और क्लीनर की हत्या कर शव मथुरा में फेंके थे। पुलिस वहां से संपर्क कर रही है। इन बदमाशों की अन्य वारदात के बारे में छानबीन की जा रही है। नजीराबाद के सरोजनी नगर निवासी त्रिलोचन सिंह की छाबड़ा ट्रांसपोर्ट है। वह अमृत लाजिस्टिक ट्रांसपोर्ट के ईस्ट जोन प्रभारी भी हैं। त्रिलोचन सिंह का एक कंटेनर ट्रक कस्बा राजपुर (रमाबाई नगर) निवासी निर्मल कठेरिया चलाता था। जबकि इसी गांव का रामनाथ क्लीनर था। डीआईजी अमिताभ यश ने बताया कि निर्मल 28 मार्च को गुड़गांव में हांडा कंपनी से 60 स्कूटी और बाइकें कंटेनर में लादकर पुरुलिया पश्चिम बंगाल जाने को निकला था। इसके बाद से चालक-क्लीनर सहित कंटेनर गायब था। उनके मोबाइल भी स्विच आफ थे। त्रिलोचन सिंह की शिकायत पर पुलिस और एसओजी मामले की छानबीन में जुटी थी। उधर 30 मार्च को मथुरा के पास क्लीनर का हत्या कर फेंका गया शव मिला था और चालक की लाश टूंडला के पास मिली थी। इस मामले में मथुरा के रिफाइनरी थाने में अज्ञात के खिलाफ लूट और हत्या की रिपोर्ट दर्ज करा दी गई थी। डीआईजी ने बताया कि रविवार रात पुलिस शिवराजपुर डकैती में शामिल बदमाशों की तलाश में घूम रही थी तभी अशोक नगर में जीटी रोड पर ईश्वर दत्त पेट्रोल पंप के पास एक कंटेनर खड़ा दिखा। पुलिस पहुंची तो कंटेनर में बैठे लोग भागने लगे। पुलिस ने तीन लोगों को दबोच लिया, लेकिन एक भाग गया। पकड़े गए कस्बा राजपुर निवासी अयूब अली, गांधी नगर पुखरायां (रमाबाई नगर) के मनीष वर्मा और इसी थानाक्षेत्र के भट्ठा गांव निवासी अनीस उर्फ अयूब ने पुलिस को बताया कि यह कंटेनर ट्रक उन लोगों ने चालक निर्मल और क्लीनर रामनाथ की हत्या कर लूटा था। गैंग के सरगना अयूब ने बताया कि वह पहले इसी कंटेनर में क्लीनर था। निर्मल की उससे दोस्ती थी। निर्मल ने 27 को गुड़गांव से कंटेनर में दुपहिया वाहन लोड करने की बात बताई थी। इसी के बाद उसने साथियों के साथ मिलकर कंटेनर लूटने की योजना बनाई। वह तीन साथियों के साथ गुड़गांव पहुंच गया। निर्मल ने जान-पहचान होने की वजह से उन्हें कंटेनर में बैठा लिया। मुथरा में उन लोगों ने सड़क पर खाना बनाकर खाया। शराब भी पी। चालक और क्लीनर की शराब में उसने नाइट्रावेट की गोलियां मिली दीं। शराब पीने के बाद दोनों नशे में हो गए तो उसने कंटेनर की स्टेयरिंग संभाल ली। रास्ते में रामनाथ को डंडे और लोहे की राड से पीटने के बाद गमछे से उसका गला घोंट दिया। शव को मथुरा रिफाइनरी के पास फेंक दिया। थोड़ी देर बाद निर्मल को भी इसी तरीकेसे मौत के घाट उतार दिया और उसका शव टूंडला के पास फेंक दिया। वहां से कंटेनर को पहले औरैया और फिरसिकंदरा में खड़ा रखा। रविवार को वे लोग दुपहिया वाहन बेचने बिहार जा रहे थे, तभी पुलिस ने दबोच लिया। उनका साथी जावेद मौकेसे भागने में सफल रहा। डीआईजी के मुताबिक बरामद वाहनों की कीमत 50 लाख से ज्यादा है। फरार जावेद की तलाश की जा रही है।

हाईवे पर लूटी 32 किलो चांदी

08 Apr 2012, आगरा।

अति व्यस्त सिकंदरा हाईवे पर रविवार शाम पल्सर सवारों ने दुस्साहसिक वारदात को अंजाम दे डाला। नकाबपोश बदमाश मथुरा से आते किशोर को घायल करके बत्तीस किलो चांदी और स्कूटी लूटकर भाग निकले। घटना शाम लगभग साढ़े पांच बजे की है। कोतवाली मथुरा निवासी सोलह वर्षीय बब्बल पुत्र प्रकाशचंद स्कूटी की डिक्की में 32 किलो चांदी लेकर आगरा आ रहा था। हाईवे पर बंद पड़े गोकुलम वाटर पार्क के पास पीछे से आये पल्सर सवार तीन बदमाशों ने हमला बोल दिया। सिर पर भारी वस्तु से प्रहार होते ही बब्बल स्कूटी समेत गिर पड़ा। लुटेरों ने उससे स्कूटी की डिग्गी खोलने को कहा, फिर देर होती देख वह गाड़ी को माल समेत ही लेकर भाग निकले। रुनकता प्रतिनिधि के अनुसार निकट स्थित बंद पड़े पेट्रोल पंप पर मौजूद दो-तीन लोगों ने घटना की सूचना पुलिस को दी। बब्बल ने पुलिस को बताया कि वह कमला नगर निवासी चांदी कारीगर अपने चाचा योगेश के पास रहता है, मथुरा से उनका माल लेकर आ रहा था। इसी दौरान लुटेरों ने हमला बोलकर घायल कर दिया। लूटपाट के दौरान एक लुटेरे का नकाब उतर गया। सीओ हरीपर्वत सिद्धार्थ वर्मा ने बताया लूट की घटना संदिग्ध प्रतीत होती है, मुकदमा दर्ज करके जांच की जा रही है।

नाटकीय अंदाज में हत्थे चढ़ा वांछित हत्यारोपी

आगरा

लूट की वारदात के बाद दो महीने से हत्या के आरोप में वांछित युवक पुलिस के हत्थे चढ़ गया। हुआ यूं कि पुलिस जिस समय किशोर बब्बल से पूछताछ कर रही थी, उसका पिता प्रकाशचंद रुनकता चौकी पहुंच गया। बब्बल ने एक लुटेरे का हुलिया बताया तो उसने जगदीशपुरा अलबतिया के जवाहरपुरम निवासी हेत सिंह का नाम लिया, इससे पुलिस चक्कर में पड़ गई। प्रकाशचंद से हेत सिंह के बारे में पूछताछ हुई तो पता चला कि उसकी पत्नी की दो माह पहले लूटपाट के दौरान हत्या कर दी गई थी। जिसमें प्रकाशचंद भी नामजद था, पुलिस को उसकी तलाश थी। यह खुलासा होते ही पुलिस ने उसे वहीं दबोकर जगदीशपुरा थाने के सुर्पुद कर दिया। बताया जाता है प्रकाशचंद ने कोर्ट में समर्पण का प्रार्थना पत्र दे रखा था।

Leave a Reply

%d bloggers like this:
Web Design BangladeshBangladesh Online Market