पूर्व बसपा विधायक के भाई ने अपनी ही पत्नी को गोलियों से भून डाला, गिरफ्तार

अंकित तिवारी

गाजियाबाद, 29 मई 2020

“मेरी मां मेरे अब्बू के अवैध संबंधों का विरोध करती थी इसीलिए उन्होंने ही भाई व एक अन्य के साथ मिल कर उनको गोली मार कर हत्या कर दी…” यह मजमून उस एफआईआर का हिस्सा है, जो कल देर रात गाजियाबाद के मुरादनगर कस्बे की कोतवाली में दर्ज कराई गई है।

पुलिस ने कल रात ही नामजद आरोपी और वादिनी के पिता आस मोहम्मद को गिरफ्तार कर लिया जबकि अहद व समीर अंसारी नामक नामजद आरोपियों की सरगर्मी के साथ तलाश कर रही है।

बताते चलें कि मुरादनगर से बसपा के विधायक रहे वहाब चौधरी के भाई आस मोहम्मद की पत्नी गुलिस्ता उर्फ सारा की कल रात 9:00 बजे घर में ही गोली मार कर हत्या कर दी गई थी।

इस हत्या में आस मोहम्मद को हिरासत में लिया।

बुलंदशहर के सिकंदराबाद की रहने वाली सारा की 17 जनवरी 2011 को आस मोहम्मद के साथ शादी हुई थी।

विवाह के कुछ वर्षों के बाद से ही पति-पत्नी के बीच विवाद शुरू हो गया था।

मुरादनगर थाने का हिस्ट्रीशीटर आस मोहम्मद हत्या हत्या का प्रयास रंगदारी मांगने तथा अवैध हरकतों के कारण कई बार जेल जा चुका है।

23 मार्च 2019 को भी उसे चेकिंग के दौरान पुलिस ने तीन पिस्तौल व भारी संख्या में कारतूस के साथ गिरफ्तार कर जेल भेजा था।

करीब 10 वर्षों से पति-पत्नी के बीच विवाद ज्यादा चल रहा था।

यह भी कहा जा रहा है कि सारा व उसके परिवार वालों ने कई बार पुलिस से इसकी शिकायत भी की थी।

पिछले कुछ समय से सारा सिकंदराबाद स्थित मायके में रह रही थी।

एक सप्ताह पूर्व ही पिता सारा व बच्चों को ससुराल में छोड़ गए थे।

पुलिस अधीक्षक ग्रामीण नीरज कुमार जादौन के अनुसार रात 9:00 बजे महिला की गोली मार कर हत्या करने की पुलिस को सूचना मिली थी।

उन्होंने बताया कि इस मोहम्मद को हिरासत में लेने के साथ ही हत्या में प्रयुक्त तमंचा बरामद कर लिया है।

मुरादनगर स्पेक्टर ओमप्रकाश सिंह के अनुसार मृतका की बेटी ने पिता आस मोहम्मद भाई व समीर अंसारी के खिलाफ तहरीर दी है।

कच्ची सराय स्थित घर के परिसर में लगे सीसीटीवी फुटेज में भी दो लोग भागते दिखाई पड़ रहे हैं।

इस तहरीर में लिखा है कि मेरी मां मेरे पिता के अवैध संबंधों का विरोध करती थी इसलिए उनकी हत्या की गई है।

मुरादनगर कोतवाली के बाहर विधायक की बेटी व अब्दुल हमीद ने पत्रकारों से भी यही कहा कि बाजारू औरतों के चक्कर में आस मोहम्मद ने ही बेटे व एक साथी के साथ मिल कर सारा की हत्या की है।

एसपी देहात नीरज कुमार जादौन के अनुसार पत्नी से विवाद के चलते आस मोहम्मद ने कुछ समय पहले किसी अन्य महिला से निकाह कर लिया था, जिसके चलते ही उसकी पहली पत्नी गुलिस्ता उर्फ सारा मायके चली गई थी।

स्थानीय लोगों का भी कहना है कि गुलिस्ता उर्फ सारा कई बार पुलिस में शिकायत कर आशंका जाहिर कर चुकी थी कि पति उसकी हत्या कर देगा।

आस मोहम्मद सारा की प्रॉपर्टी भी बेच चुका था।

पुलिस ने मामले को ज्यादा गंभीरता से नहीं लिया और कल रात सारा की हत्या कर हो गई।

Leave a Reply

%d bloggers like this:
Web Design BangladeshBangladesh Online Market