सीटीवी अंक 27 – गिरोहबाजों के उर्फ नामों के राज

मुंबई के गुंडों ने अपने लिए जब एक भाषा और कोडवर्ड चुने, तो खुद की शिनाख्त बचाने और छुपाने के लिए अपने उपनाम या फर्जी नाम भी रखे।

ये नाम उन्हें क्यों और कैसे मिलते हैं, उनकी जानकारी कभी कोई बाहर नहीं ला सका।

सबसे पहले विवेक अग्रवाल ने  ही एक लंबा शोधपरक लेख “मुंबई में गुंडों की नाम कहानी” लिख कर इसे उजागर किया था।

अब विवेक अग्रवाल की ही जुबानी यह सच जानिए।

#VivekAgrawal #Dawood #ChotaRajan #MumBhai #MumBhaiReturns #Mumbai #Mafia #Underworld #Police #HajiMastan #KareemLala #VardaBhai #ArunGawli #AliBudesh #AmarNaik #TADA #MCOCA #POTA #Law #BombBlast #1993

Leave a Reply

%d bloggers like this:
Web Design BangladeshBangladesh Online Market