मुंबई महानगरपालिका चुनाव पर भी खुला सट्टा हजारों करोड़ के होंगे वारे न्यारे

विवेक अग्रवाल

मुंबई, 30 मई 2022।

मुंबई महानगरपालिका पर पिछले 25 सालों से राज कर रही शिवसेना को हटा कर कब्जा करने के लिए भारतीय जनता पार्टी नेताओं में जबरदस्त बेचैनी बनी हुई है। इसका नतीजा यह है कि सट्टाबाजार ने भी उनके पक्ष में बहुत पहले ही भाव खोल कर साफ दर्शा दिया है कि सट्टाबाजार भी पूरी तरह एक पार्टी विशेष के कब्जे में चला गया है।

पिछले चुनाव तक मनपा में 227 सीट थीं जो बढ़कर 235 हो चुकि हैं। पहले शिवसेना के पास 84 सीटें और भाजपा के पास 82 थीं। बुखियों का मानना है कि इस बार मामला पलटेगा।

सट्टाबाजार में 28 मई 2022 को ही मनपा चुनाव के भाव खोल दिए थे।

एक बुकी का कहना है कि महाआघाडी सरकार ने बहुत कोशिश कर ली कि किसी बहाने से मनपा चुनाव टाले जा सकें लेकिन अदालती आदेश पर चुनाव करवाना मजबूरी हो गई है। इसके बावजूद लग रहा है कि सितंबर 2022 के दूसरे सप्ताह में चुनाव होंगे।

बुकियों का मानना है कि शिवसेना का वोट बैंक टूटेगा, जिसका कुछ हिस्सा मनसे और कुछ हिस्सा भारतीय जनता पार्टी को जाएगा।

मनपा चुनाव का गणित

पूर्म बहुमत के लिए 119 सीट चाहिएं जो सट्टाबाजार के जानकारों के हिसाब से भारतीय जनता पार्टी जीतती नजर आ रही है।

सट्टाबाजार ने जो भाव खोले हैं, उसके मुताबिक भाजपा ही चुनाव जीतती नजर आ रही है। मनपा चुनाव में उसके 100 सीट जीतने पर 28 पैसे, 110 सीट जीतने पर 47 पैसे, 120 सीट पर 1 रुपए, 130 सीट पर एक रुपए 75 पैसे का भाव खुला है।

भाजपा के मुकाबले शिवसेना को जितनी कम सीटों पर दिखाया जा रहा है, वह साफ तौर पर सट्टाबाजार के पक्षपाती रवैए को जतला रहा है। शिवसेना को सिर्फ 20 सीट पर जीत के लिए 18 पैसे, 30 सीट पर 87 पैसे, 40 सीट पर सवा दो रुपए, 50 सीट जीतने पर 6 रुपए का भाव दिखा रहे हैं।

पिछले चुनाव में मनसे ने छह सीटों पर विजय हासिल की थी। इस बार उसका प्रदर्शन ठीक होने का अनुमान सट्टाबाजार बता रहा है। इस बार उसकी 10 सीट की जीत पर 22 पैसे और 20 सीट पर जीत के लिए 82 पैसे का भाव खुला है। अधिकतम 30 सीट हासिल करने की बात सट्टाबाजार में कही जा रही है, जिसके लिए 2 रुपए का भाव खोला गया है।

इसी प्रकार कांग्रेस के लिए 10 सीट पर जीत के लिए 22 पैसे, 20 सीट पर 82 पैसे और 30 सीट जीतने पर एक रुपए 75 पैसे का भाव खोला गया है।

नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी की पहले 9 सीट थीं लेकिन इस बार तो उसका भाव भी सटोरियों ने खोला ही नहीं है।

अलटा-पलटी के कारण

बुकियों का कहना है कि मुंबई में इस बार भी जबरदस्त बारिश होगी, जगह-जगह जल जमाव होगा, तो इसका फायदा विपक्षी पार्टियों को ही होगा। इसके कारण ही महानगरपालिका में शिवसेना का 25 साल के राज का अंत होगा।

सटोरियों का कहना है कि भाजपा के तमाम नेता जिस तरह भ्रष्टाचार का ढोल बजाते हुए तत्कालीन राज्य सरकार के पीछे पड़े हैं, उसके कारण जनता में शिवसेना की नकारात्मक छवि बन रही है।

राजनीतिक सट्टा ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों मोड में चल रहा है। एक बुकी के मुताबिक तमाम बड़े या छोटे बुकी, दिल्ली, कोलकाता और गुजरात से राजनीतिक सट्टा करेंगे।

मनपा सट्टे का अर्थशास्त्र

एक तरफ जहां मुंबई महानगरपालिका का बजट 30 हजार करोड रुपए सालाना होता है, वहीं दूसरी तरफ महानगर पालिका के चुनाव पर महज तीन महीनों में ही 90 हजार करोड़ रुपए का सट्टा लगने की उम्मीद सट्टाबाजार कर रहा है।

****

Leave a Reply

%d bloggers like this:
Web Design BangladeshBangladesh Online Market